0 Comments
Spread the love

चिश्तियाँ सिलसिले के बुजुर्ग महान सूफी संत हज़रत ख्वाज़ा मोईनुद्दीन हसन चिश्ति की ज़िंदगी और उनसे जुड़ी हर एक जानकारी अब किताब रुहूल अरवा फील हिंद में उपलब्ध होगी।

लगभग 400 पेज से भी अधिक पेज की इस किताब को ज्यादा से ज्यादा गरीब नवाज़ की जीवनी किताबों से जानकारी प्राप्त कर लिखा गया है।

इसमे प्रमाणित किताब मोइनुल अरवा,दलीलुल आरफीन के संदर्भ से इतेहासिक पुख़्ता सूचनाएं दर्ज कि गई है। ख़ादिम सैय्यद शक़ील अहमद के अनुसार हज़रत ख्वाज़ा गरीब नवाज़ के बड़े पुत्र हज़रत बाबा फखरूद्दीन चिश्ति की दरगाह सरवाड़ शरीफ से आदेश मिलने के बाद मौलाना मोहम्मद अनवर अशरफ़ क़ादरी से इस क़िताब को 40 दिनों में मुक़म्मल कराया है। जिसका विमोचन दरगाह के आहता नूर में रखा गया । किताब के विमोचन के अवसर पर ज़ायरीन अकीदतमंदों के अलावा ख़ुद्दामे ख्वाज़ा भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *