0 Comments
Spread the love

आखिर कब पुष्कर के रेलवे स्टेशन पर सुनाई देगी छुक छुक की आवाज। दरअसल मार्च 2020 में कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन लगने के बाद से अब तक पुष्कर रेलवे स्टेशन से चलने वाली एकमात्र रेल पटरी पर नहीं लौटी है। अजमेर-पुष्कर के बीच चलने वाली एकमात्र ट्रेन के संचालन नहीं होने से ग्रामीणों और यात्रियों को परेशानियां हो रही है।जब कोरोना महामारी ने अपने पांव पसारे तब भारतीय रेल के चक्के भी थम गए। पहली बार हुआ जब देशभर में हजारों रेलगाड़ियों का आवागमन बिल्कुल बंद कर दिया गया।लेकिन अब 11 महीने बीतने के बाद जब अनलॉक प्रक्रिया के तहत धीरे-धीरे समस्त स्थितियां सामान्य होने लगी हैं, तो आवागमन के अन्य साधनों के साथ रेलवे ने भी काफी यात्री गाड़ियों का संचालन फिर से शुरू कर दिया है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के साथ पर्यटन को बढ़ावा देने वाली अजमेर पुष्कर ट्रेन को अभी तक प्रारंभ नहीं किया गया। सूने सुने पड़े पुष्कर रेलवे स्टेशन को भी अब इंतजार है,फिर से रेल की सीटी सुनाई देने का। दरअसल करोड़ों रुपए की लागत से बना पुष्कर रेलवे स्टेशन लॉक डाउन के बाद से ही धूल फाकता नजर आ रहा है। यहां रेलवे स्टेशन पर इंसान नहीं जानवर घूमते नजर आते हैं। अब देखना होगा कि यहां कब पटरी पर रेल दौड़ेगी। लॉकडाउन लगने के बाद से ही रेल सेवाएं आरंभ नहीं हुई है, जल्दी रेल सेवा शुरू होने की संभावना है लेकिन अभी तक कोई लिखित जानकारी नहीं मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *