0 Comments
Spread the love

सीमा पर पाकिस्तान भले ही गोले बरसा रहा हो, लेकिन अजमेर में ख्वाजा साहब के सालाना उर्स के मौके पर पाकिस्तान शांति का पैगाम लेकर आया है। भारत स्थित पाकिस्तान दूतावास के डिप्टी हाई कमीशनर आफ़ताब हसन ने 16 फरवरी को सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में मजार शरीफ पर पाकिस्तान सरकार की ओर से चादर पेश की। इस मौके पर हसन ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान भी चाहते हैं कि दोनों देशों में अमन, चेन और भाईचारा हो। चूंकि ख्वाजा साहब की दरगाह दुनिया में सांप्रदायिक सौहाद्र्र की मिसाल है, इसलिए ख्वाजा साहब के उर्स के दौरान चादर पेश की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष ख्वाजा साहब के उर्स में पाक जायरीन दल भी जाता है, लेकिन इस बार यह दल नहीं आ सका, इसलिए वे स्वयं ख्वाजा के दर पर आए हैं। उन्होंने मजार शरीफ पर दुआ की है कि दोनों मुल्कों में रिश्ते बेहतर हों। खादिमों की प्रतिनिधि संस्था अंजुमन सैय्यद जादगान के सचिव वाहिद हुसैन अंगारा शाह के साथ अन्य प्रतिनिधियों ने अफताव हसन का इस्तकबाल किया। दरगाह के खादिम बिलाल अंगारा ने हसन को जियारत करवाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *