0 Comments
Spread the love

देर रात को दो पल रेस्टोरेंट के पीछे रहने वाले गुलाम मोहम्मद ने जब एक सांप को अपने घर के आंगन में रखी सीमेंट की टाइल्स में घुसते देखा तो परिवार वाले दहशत में आ गए और आस पड़ोस के लोगों की भीड़ जमा हो गयी।
सांप को रेस्क्यू करने के लिए गुलाम मोहम्मद ने मिशन स्नेक बाईट डेथ फ्री इंडिया के सर्परक्षक विजय यादव को कॉल करके बुलवाया।
यादव अपने साथी प्रीतम सहित पहुँचे और टाइल्स के पीछे से एक वयस्क 24 इंच के वुल्फ स्नेक को रेस्क्यू किया।
यादव ने बताया कि इस सांप की अधिकतम लंबाई 27 इंच होती है इसका साइंटिफिक नाम लाइकोडॉन ऑलीकस है आम भाषा में इसे भेड़िया सांप कहते हैं।
इसी प्रकार दानमल माथुर कॉलोनी निवासी दीप्ति के घर में बने पानी के टैंक में गिरे एक स्पेक्टिकल कोबरा सांप और माकड़वाली रोड, पंचशील बी ब्लॉक निवासी विमल नाहर के घर में एक सांप घुसने से घर में मौजूद बुजुर्ग विमल नाहर और उनकी पत्नी डर गए और सर्परक्षक विजय यादव को बुलवाया यादव ने एक ट्रिनकेट स्नेक को रेस्क्यू किया जिसका साइंटिफिक नाम कोएलोगंथस हेलेना होता है, इसे हिंदी में अलंकार सांप कहते हैं।
यह सांप आमतौर पर काटता नहीं है लेकिन खतरा महसूस होने और आसपास किसी की उपस्थिति महसूस होने पर आक्रामक मुद्रा में आकर बार बार हमला करके काटने की कोशिश करता है यह एक विषहीन सांप होता है।
सर्परक्षक ने तीनों सांपों को सुरक्षित आवास में छोड़ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *