0 Comments
Spread the love

प्रदेश बीजेपी में वसुंधरा राजे को सीएम फेस घोषित करने को लेकर छिड़े सियासी घमासान के बीच आज रविवार को वसुंधरा राजे और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां का दिल्ली में आमना-सामना होगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की अध्यक्षता में नई दिल्ली में पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक में प्रदेश के दोनों बड़े नेता भी शामिल होंगे। इसमें राजे बतौर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूनिया प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर शामिल होंगे। लिहाजा प्रदेश बीजेपी में बढ़ती गुटबाजी के चर्चा के बीच राजे और पूनियां का दिल्ली में मुलाकात होना चर्चा का विषय बना हुआ है। आपको बता दें रविवार को होने वाली यह बैठक कोरोना महामारी के दौरान राष्ट्रीय पदाधिकारियों की पहली बैठक मानी जा रही है। जहां पार्टी से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा होगी। वहीं राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी का संबोधन भी सुर्खियां बटोर रहा है।
मीडिया रिपोटर्स की मानें, तो प्रदेश संगठन से राजे की नाराज़गी बढ़ती जा रही है। वहीं अब वसुंधरा राजे के समर्थकों ने भी अब खुलकर कोटा में इस बात की तस्दीक कर दी है कि प्रदेश संगठन की ओर से राजे की अनदेखी की जा रही है। ऐसे में बीजेपी प्रदेश संगठन में गुटबाजी की चर्चा जोर पकड़ रही है। जानकारों की मानें, तो प्रदेश बीजेपी राजे और पूनियां खेमे में बंट गया है।
आपको बता दें कि जहां एक ओर प्रदेश बीजेपी संगठन में गुटबाजी की चर्चा जोर पकड़ रही है। वहीं दूसरी ओर वसुंधरा राजे और सतीश पूनियां बीते कुछ महीनों में कई बार अलग अलग पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा के साथ मुलाकात कर चुके हैं। वहीं दोनों के अलग- अलग पार्टी अध्यक्ष से मिलने के बाद से ही सियासी सुर्खियां प्रदेश में तेज होने लगी है। अब ये पहला मौका होगा कि जब पार्टी के दोनों नेता एक साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के सामने होंगे।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी की इस अहम बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक के एजेंडे, राज्य की इकाइयों द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों और चुनावी राज्यों की तैयारियों को लेकर मंथन होगा। साथ ही पार्टी संगठन से जुड़े नेता अपनी- अपनी वर्किंग के पक्ष में राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के समक्ष अपनी बात रखेंगे। लिहाजा यह भी कयास लगाए जा रहे हैं नड्डा वसुंधरा राजे और सतीश पूनियां से भी राजस्थान के मुद्दे को लेकर भी चर्चा करेंगे। साथ ही यह निर्देश देंगे कि कैसे पार्टी को दोबारा राजस्थान में स्थापित किया जाए, जिससे वापस सत्ता में बीजेपी राजस्थान में दिख सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *