0 Comments
Spread the love

देश मे किसी भी आतंकी हमले से निपटने के लिए बनी सुरक्षा एजेंसी नेशनल सिक्योरिटी गार्ड ने तीर्थनगरी पुष्कर को किसी भी आतंकी खतरे से बचाने के लिये दो दिन तक कड़ा अभ्यास किया ।यह अभ्यास 1 और 2 मार्च की रात से अल सुबह तक चला ।एनएसजी ने विश्वविख्यात जगतपिता ब्रह्मा मंदिर,इजराइली धर्म स्थल बेद खाबाद और होटल ओएसिस में अपने माक ड्रिल को अंजाम दिया ।इस माक ड्रिल में जिला पुलिस, जिला प्रशासन,एटीएस
,एसडीआरएफ भी शामिल हुए ।एनएसजी ऑपरेशन मेजर जनरल वीएस राणा डे पूरे मॉकड्रिल की समीक्षा की और आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किये । एनएसजी के मॉकड्रिल के बारे में जानकारी देते हुए एनएसजी के अभिषेक मुखर्जी ने बताया कि देश मे जहा भी आतंकी हमले की संभावना होती है वहा पर समय समय पर इस तरह का अभ्यास किया जाता है ।विशेष रूप से जब आतंकी लोगो को बंधक बना लेते है तो उस परिस्थितियों में उन्हें मुक्त करवाना एनएसजी की खूबी है ।माक ड्रिल का मुख्य उद्देश्य किसी भी घटना से निपटने के लिये जिला प्रशासन,जिला पुलिस और स्थानीय सुरक्षा एजेंसियों के साथ सामंजस्य स्थापित करना होता है जिससे कि जल्द से जल्द ऑपरेशन को पूरा किया जा सके ।मुखर्जी ने बताया कि किसी भी हमले में सबसे पहले पुलिस का एक्शन होता है इसलिये उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है ।उपखण्ड अधिकारी दिलीपसिंह राठोड ने बताया कि जब भी कोई आतंकी हमला होता है तो स्थानीय पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों की मदद के लिये अंतिम विकल्प के रूप में एनएसजी मोर्चा संभालती है ।मॉकड्रिल में बिल्कुल उसी तरह अभ्यास किया जाता है जैसे घटना वास्तविक हो । ।सीओ ग्रामीण छवि शर्मा ने बताया कि किसी भी घटना में जब हालात पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के लिये विकट हो जाते है तो एनएसजी कुशलता के साथ ऑपरेशन को अंजाम देने में माहिर है ।ऐसे में प्रशासन, पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों ,स्थानीय लोगो के साथ मीडिया को भी अपनी भूमिका निभानी पड़ती है ।एनएसजी ने मॉकड्रिल के सफलतापूर्वक सम्पन होने पर जिला प्रशासन,जिला पुलिस,अन्य सुरक्षा एजेंसियों सहित मीडिया और स्थानीय लोगो का आभार व्यक्त किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *